Sports

आईपीएल सात के लिए युवराज सिंह को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुर (आरसीबी) ने सबसे ज्यादा 14 करोड़ रुपए खर्च करके खरीदा गया है। किंगफिशर के कर्मचारियों ने युवराज को एक खुला खत लिखा और उनसे मांग की है कि वह विजय माल्या की टीम के लिए नहीं खेलें।

खत में युवी के लिए लिखा है प्रिय युवराज,
हम सभी किंगफिशर एयरलाइंस के कर्मचारी आपके फैन हैं। हम ही नहीं पूरे देश ने दुआ की थी कि आप अपनी बीमारी से जल्द से जल्द ठीक हो जाएं। हम खुश हैं कि आप न कि केवल अपना फॉर्म बरकरार रखते हुए खेल रहे हैं बल्कि करियर में भी आगे बढ़ रहे हैं।

मिस्टर माल्या ने आपको 14 करोड़ रुपए में खरीदा है, हमें किंगफिशर एयरलाइंस ने पिछले 18 महीनों से सैलरी नहीं दी है। हमारी सारी सेविंग खत्‍म हो चुकी है और हम कर्ज के बोझ तले दबे हुए हैं। रिश्तेदारों और बैंक्स से अपनी प्रॉपर्टी और गोल्ड के एवज में हमने लोन लिए हैं। लोअर स्टाफ की हालत और खराब है जिन्हें स्लम इलाकों में रहना पड़ रहा है।

मिस्टर माल्या ने हमें कहा है कि हमें सैलरी देने के लिए उनके पास पैसे नहीं हैं, जबकि आईपीएल, फॉर्मूला वन और कैलेंडर्स में वो करोड़ों रुपए खर्च कर रहे हैं। अब ये आपके ऊपर है कि आप अपने कान बंद करके ऐसे निर्दयी इंसान के लिए काम करें और अपने जीवन में नकारात्मकता बुलाएं या नैतिक आधार पर उनके लिए काम करने से मना कर दें।

अंजन कुमार देवेश्वर ने कहा कि युवी को अपनी सोशल रिसपॉन्सबिलिटी को समझना चाहिए और इस ऑफर को स्वीकार नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब युवी कैंसर से जूझ रहे थे तो पूरे देश ने उनके लिए दुआ की थी और अब ऐसा लग रहा है कि वो ये सब भूल गए हैं।