Cricket

लंदन: इंग्लैंड के पूर्व आलराउंडर एंड्रयू फ्लिंटाफ का मानना है कि केविन पीटरसन के करियर का अंत करके उन्हें एशेज में इंग्लैंड की वाइटवाश के लिए बलि का बकरा बनाया गया। इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने आस्ट्रेलिया में श्रृंखला 0-5 से गंवाने के बाद इंग्लैंड के साथ पीटरसन का नाता टूटने की घोषणा की थी।

फ्लिंटाफ का हालांकि मानना है कि व्यक्तिगत खिलाडिय़ों को जिम्मेदार ठहराना गलत है और उन्होंने इंग्लैंड टीम के भीतर टीम भावना पर भी सवाल उठाए। उन्होंने ब्रिटेन के समाचार पत्र डेली मेल से कहा, ‘‘यह समूह अब एक समूह की तरह नहीं लगता। उन्हें दोषारोपण के लिए एक खिलाड़ी मिल गया और बाकी लोग अपना काम करते रहना चाहते हैं और उसे बचाना नहीं चाहते।’’उन्होंने कहा,‘‘ऐसा  नहीं था कि हम उन्हें आउट नहीं कर सकते थे, ऐसा भी नहीं था कि हम रन नहीं बना सकते थे।

यह केविन पीटरसन की गलती नहीं थी।’’ फ्लिंटाफ ने कहा, ‘‘मैं कुछ सीनियर खिलाडिय़ों का अधिक सम्मान करता अगर वे एक व्यक्ति को सजा झेलने देने की जगह उसका साथ देते।’’ फ्लिंटाफ ने कहा कि अन्य को आलोचना से बचाने के लिए दक्षिण अफ्रीका में जन्में पीटरसन का सहारा लिया गया।