Cricket

बेंगलूर: शेष भारत एकादश का सामना कल ईरानी कप में जब रणजी चैम्पियन कर्नाटक से होगा तब भारतीय क्रिकेट टीम में वापसी की कोशिशों में जुटे हरभजन सिंह और गौतम गंभीर पर सभी की नजरें होंगी। दोनों अच्छा प्रदर्शन करके चयनकर्ताओं को दिखाना चाहेंगे कि अभी उनके भीतर काफी क्रिकेट शेष है। अच्छी बल्लेबाजी करने वाली टीमों के खिलाफ प्रभावित करने में आर अश्विन की नाकामी को देखते हुए हरभजन के लिए अपना दावा फिर पेश करने का यह सुनहरा मौका है। उनका सामना कर्नाटक से है जिसके पास राबिन उथप्पा, मनीष पांडे, नई बल्लेबाजी सनसनी लोकेश राहुल जैसे खिलाड़ी हैं।

वहीं शिखर धवन और मुरली विजय के लगातार खराब प्रदर्शन के मायने हैं कि गंभीर की वापसी के दरवाजे बंद नहीं हुए हैं। अभिमन्यु मिथुन, आर विनय कुमार और एस अरविंद जैसे गेंदबाजों के सामने अच्छी पारी खेलकर वह खोया आत्मविश्वास हासिल कर सकते हैं। यह मुकाबला काफी दिलचस्प होगा जिसमें घरेलू क्रिकेट में उम्दा प्रदर्शन करने वाले कई खिलाड़ी खेल रहे हैं। महाराष्ट्र के बल्लेबाज केदार जाधव हाल ही में संपन्न रणजी ट्रॉफी में 1223 रन बना चुके हैं जिसमें फाइनल में शतक शामिल है। राजस्थान के पंकज सिंह और बंगाल के अशोक डिंडा की नजरें भी अच्छे प्रदर्शन पर होगी। पंकज के पास चयनकर्ताओं का ध्यान खींचने का यह आखिरी मौका है।