Cricket

वांगारेई : वनडे क्रिकेट में शर्मनाक हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ कल से शुरू हो रहे 2 दिवसीय अभ्यास मैच में उतरेगी तो उसका इरादा 2 टैस्ट मैचों की शृंखला से पहले खोया आत्मविश्वास हासिल करने का होगा। महेंद्र सिंह धोनी की टीम इस हार को भुलाकर 6 फरवरी से शुरू हो रही टैस्ट शृंखला में उतरना चाहेगी।
 
इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर भी भारतीय टीम वनडे शृंखला हार गई थी जहां गेंदबाज और बल्लेबाज बुरी तरह नाकाम रहे थे। उस दौरे पर भारत का अभ्यास मैच बेमौसम की बरसात के कारण रद्द हो गया था। दूसरी ओर यहां धूप खिली है और भारत को 2 दिन का अभ्यास मिल जाएगा। दक्षिण अफ्रीका में अभ्यास नहीं मिलने के बावजूद वनडे शृंखला में मिली हार से उबरते हुए भारत ने 2 टैस्ट मैचों की शृंखला में बेहतर प्रदर्शन किया हालांकि दौरे के आखिरी दिन उसमें भी 1-0 से हार का सामना करना पड़ा।

भारत को 5 दिनी क्रिकेट की अलग जरूरतों और उनसे तालमेल बिठाने के बारे में सजग रहना होगा। भारतीय टीम लगभग वही है सिर्फ 4 खिलाड़ी सुरेश रैना, स्टुअर्ट बिन्नी, अमित मिश्रा और वरुण आरोन स्वदेश लौटेंगे। चेतेश्वर पुजारा, मुरली विजय, जहीर खान, उमेश यादव और रिधिमान साहा के आने से टीम मजबूत होगी। वनडे शृंखला के दौरान धोनी ने खेल से परे रहकर उसके बारे में आत्ममंथन करने की बात कही थी और अब देखना यह है कि नियमित टैस्ट खिलाड़ी इस पर अमल करते हैं या नहीं। कोहली को आराम दिए जाने पर अंबाती रायडू खेल सकते हैं। गेंदबाजों में जहीर खान और मोहम्मद शमी के साथ ईशांत शर्मा, उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार में से किसी को चुना जाएगा। यह टीम प्रबंधन द्वारा चुने गए संयोजन पर निर्भर करता है।