Sports

वेलिंगटन : शृंखला गंवाने के बाद भारतीय खिलाडिय़ों का मनोबल गिरा हुआ है लेकिन फिर भी टीम कल यहां 5वें और अंतिम वनडे में आत्मविश्वास से भरी न्यूजीलैंड की टीम के खिलाफ दौरे की अपनी पहली जीत दर्ज कर खोई प्रतिष्ठा बचाने को बेताब होगी। भारतीय टीम ने पिछले 2 हफ्तों में 0-3 से शृंखला हारकर अपना वनडे रैंकिंग का शीर्ष स्थान भी गंवा दिया। कल वेस्टपैक स्टेडियम में टीम प्रतिष्ठा से कहीं अधिक के लिए खेलेगी। सांत्वना जीत का मतलब होगा कि शृंखला 3-1 से समाप्त होगी, 4-0 से नहीं क्योंकि दौरे पर एक भी मैच नहीं जीतना भारत के लिए शर्मनाक होगा। महेंद्र सिंह धोनी और उनकी टीम जब से दिसम्बर में देश से निकली है, चीजें काफी खराब रही हैं इसलिए मौजूदा विश्व चैम्पियन के लिए यह जीत थोड़ा सम्मान भी बनाए रखेगी।
 
तब से 7 वनडे में टीम ने एक भी मैच नहीं जीता है। टीम को 5 में हार मिली, एक मैच टाई रहा और एक का परिणाम नहीं निकला। करीब 2 महीनों में वे सभी प्रारूपों में अब अपनी पहली जीत दर्ज करना चाहते हैं तो उन्हें शृंखला गंवाने वाले परिणाम के बारे में सोचने की बजाय 5वें वनडे पर ही सारा ध्यान लगाना होगा। इसका मतलब है कि स्टुअर्ट बिन्नी को बाहर बैठना होगा क्योंकि अम्बाती रायडू चौथे नंबर पर 37 रन की पारी में अच्छे दिखे। गेंदबाजी आक्रमण में अमित मिश्रा को आज नैट पर वॉर्म-अप करते हुए देखा गया और उन्हें हाल ही में खराब फार्म में चल रहे आर. अश्विन की जगह उतारा जा सकता है।