Other Games

लखनऊ: बैडमिंटन के मुख्य राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद ने देश की दो शीर्ष महिला खिलाडिय़ों सायना नेहवाल और पी. वी. सिंधु के बीच अधिक से अधिक फाइनल मुकाबले होने की उम्मीद जताई है। बीते शनिवार को 65वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर गोपीचंद को पद्मभूषण पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गई है।

गोपीचंद ने अपनी दोनों शिष्याओं के प्रदर्शन पर खुशी व्यक्त की और कहा कि इंडिया ग्रांप्री गोल्ड में सायना और सिंधु ने जैसा प्रदर्शन किया, उसे देखते हुए दोनों खिलाडिय़ों के बीच अभी काफी फाइनल मुकाबले देखने की उम्मीद की जा सकती है। ओलम्पिक कांस्य पदक विजेता सायना ने तथा विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक विजेता सिंधु ने इंडिया ग्रांप्री गोल्ड में चीनी खिलाडिय़ों की चुनौती ध्वस्त करते हुए फाइनल में  जगह बनाई, जिसमें जीत हासिल कर सायना ने 15 महीनों के अपने खिताबी सूखे को खत्म किया।

पूर्व ऑल इंग्लैंड चैम्पियन गोपीचंद ने आईएएनएस से सोमवार को कहा, ‘‘यह बहुत अच्छा मैच था। मैं उम्मीद करता हूं कि सायना और सिंधु इसी तरह अभी और अधिक प्रतियोगिताओं के फाइनल में एकदूसरे का सामना करेंगी, तथा यह देखना सुखद होगा। दोनों ने बहुत अच्छे खेल का प्रदर्शन किया।’’ गोपीचंद के लिए दोनों खिलाडिय़ों के फाइनल में पहुंचते ही काम खत्म हो गया। उन्होंने फाइनल मैच से दूरी बनाए रखना ही उचित समझा, जिसे सायना ने सिंधु को 21-14, 21-17 से हराकर अपने नाम कर लिया।

सिंधु ने हालांकि सायना को इतनी आसानी से जीत हासिल नहीं करने दी। नौंवी विश्व वरीयता प्राप्त सायना के बारे में 40 वर्षीय गोपीचंद ने कहा, ‘‘सिंधु ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया, लेकिन यह टूर्नामेंट सायना के लिए कहीं अच्छा साबित हुआ। हमने इससे पहले उनका प्रदर्शन देखा है, तथा उनके खेल में सुधार देखकर मैं बहुत खुश हूं।’’ पुरुष एकल के फाइनल तक पहुंचने वाले किदांबी श्रीकांत की भी गोपीचंद ने सराहना की। मौजूदा राष्ट्रीय चैम्पियन श्रीकांत फाइनल मुकाबले में चीन के ज्यू सोंग से हार गए।

द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित हो चुके गोपीचंद ने कहा, ‘‘श्रीकांत के खेल में थोड़ी अनुभवहीनता और कच्चापन दिखा, क्योंकि उसे अभी खेल को रफ्तार प्रदान करना नहीं आता। यह मैच उसके लिए अच्छे अनुभव वाला साबित होगा। वह बहुत उम्दा शॉट लगाने की काबिलियत रखते हैं, लेकिन उन्हें अभी अपने खेल में स्थायित्व लाने की जरूरत है।’’ गोपीचंद ने बीते वर्ष श्रीकांत के प्रदर्शन पर संतुष्टि जताई और इस वर्ष उसमें और सुधार होने की उम्मीद भी व्यक्त की।

देश के शीर्ष पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ी पारुपल्ली कश्यप के बारे में पूछे जाने पर गोपीचंद ने कहा कि चोट के कारण कश्यप अभी परेशान चल रहे हैं, हालांकि उन्होंने इसके साथ ही 18वीं विश्व वरीयता प्राप्त कश्यप के जल्द ठीक होने की आशा भी जताई।