Sports

कोलकाता: सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न से सम्मानित करने के फैसले की सराहना करते हुए महान एथलीट मिल्खा सिंह ने आज कहा कि यह दिग्गज क्रिकेटर खेल का सच्चा दूत है और इस पुरस्कार का हकदार है। मिल्खा ने यहां एक कार्यक्रम के इतर कहा, कई लोगों को भारत रत्न मिला लेकिन कोई उनके नाम नहीं जानता। हालांकि सभी को याद रहेगा कि तेंदुलकर को भारत रत्न मिला। वह सभी का चहेता है।

यह पूछने पर कि उन्हें राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के लिए 1958 में जो पद्म श्री मिला था वह उससे खुश है तो उन्होंने कहा, मैं पुरस्कारों के पीछे नहीं भागता। पंडित जवाहर लाल नेहरू मुझे निजी तौर पर जानते थे। मैं उनसे आसानी से कई एकड़ जमीन मांग सकता था लेकिन हमारे समय में हम पुरस्कारों के पीछे नहीं भागते थे। उन्होंने कहा, ‘मैं पद्म श्री से खुश हूं। मुझे क्या फर्क पड़ेगा अगर अब मुझे उंचा पद्म पुरस्कार मिल जाएगा। भारत के लोगों को मेरी उपलब्धि पता है। मैं पद्म भूषण या पद्म विभूषण के पीछे नहीं भागना चाहता।