Sports

चेन्नई: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने 23 जनवरी को होने वाले कार्यकारी समिति की बैठक के एजेंडे को बेहद गोपनीय रखा है जिससे कई तरह की अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। बीसीसीआई के अध्यक्ष एन श्रीनिवासन और उनके एक करीबी ने कहा ‘बोर्ड अपने एजेंडे को सार्वजनिक नहीं करता है। यह नियमित बैठक है।’ ऐसी ही एक बैठक इस महीने की शुरुआत में भी हुई थी।

माना जा रहा है कि इस बैठक में आईपीएल के सातवें संस्करण के बारे में फैसला लिया जा सकता है कि यह भारत में होगा या नहीं। दरअसल अप्रैल और मई में देश में आम चुनाव होने है। इससे पहले भी साल 2009 में आम चुनावों के कारण सरकार ने आईपीएल के लिए सुरक्षा देने से मना कर दिया था और तब यह टूर्नामेंट दक्षिण अफ्रीका में खेला गया था। आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग की जांच के लिए उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित समिति की जांच 26 जनवरी को आने की संभावना है। इसके अलावा आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी के राजस्थान क्रिकेट संघ (आरसीए) के चुनाव लडने का मामला भी इस बैठक में उठ सकता है। आईपीएल के लिए खिलाडियों की नीलामी फरवरी में बेंगलूर में होनी है।

हालांकि आईपीएल की संचालन समिति के अध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा ‘इस बैठक में आईपीएल पर चर्चा नहीं की जाएगी। मुझे पता नहीं है कि इस बैठक का एजेंडा क्या है। आईपीएल पर इस महीने के अंत में होने वाली एक अन्य बैठक में चर्चा की जाएगी।’