Cricket

नेपियर: विराट कोहली (123) के शतक के बावजूद भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ बेहद उतार चढाव वाले पहले एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच में रविवार को 24 रन से हार का सामना करना पडा। जीत के लिए 293 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया 48.4 ओवर में 268 रन पर ढेर हो गई। विराट ने एकतरफा संघर्ष करते हुए 111 गेंदों में 11 चौकों और दो छक्कों की मदद से 123 रन बनाए। लेकिन अपने 18वें वन डे शतक के बावजूद वह टीम को जीत की मंजिल पर नहीं पहुंचा सके। इसी के साथ ही टीम इंडिया पांच मैचों की सीरीज में 0-1 से पिछड गई है।

भारत ने अपने चार विकेट 129 रन तक गंवा दिए थे लेकिन विराट और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (40) ने पांचवें विकेट के लिए 95 रन जोडकर टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया था। लेकिन इस जोडी के टूटने के साथ ही मैच भारत के हाथ से निकल गया। भारत ने अपने अंतिम छह विकेट 44 रन के अंतराल में गंवा दिए। रोहित शर्मा तीन, शिखर धवन 32 और अजिंक्या रहाणे सात और सुरेश रैना 18 रन बनाकर आउट हुए। रोहित हुक शाट खेलने के प्रयास में जब डीप फाइन लेग पर कैच हुए तो भारत का स्कोर 15 रन था लेकिन उसके बाद शिखर और विराट टीम के स्कोर को 73 रन तक ले गए। शिखर 46 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 32 रन बनाकर हुक शाट खेलने के प्रयास में कैच हुए।

चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए रहाणे को उतारा गया लेकिन वह सात रन ही बना सके। विराट और रैना ने चौथे विकेट की साझेदारी में 45 रन जोडे। रैना 22 गेंदों में दो चौकों की मदद से 18 रन बनाकर चलते बने। लेकिन विराट और धोनी ने फिर पांचवें विकेट के लिए 14.1 ओवर में 95 रन की साझेदारी कर भारत की उम्मीदों को परवान चढाया। इस दौरान विराट ने 93 गेंदों में दस चौकों और एक छक्के की मदद से अपना 18वां शतक पूरा किया। भारत एक समय 43वें ओवर में चार विकेट पर 224 रन बनाकर अच्छी स्थिति में था। उसे 7.4 ओवर में जीत के लिए 69 रन चाहिए थे और उसके छह विकेट शेष थे।

लेकिन धोनी के आउट होते ही फिर टीम इंडिया ताश के पत्तों की तरह बिखर गई। धोनी 46 गेंदों में दो चौकों और दो छक्कों की मदद से 40 रन बनाकर मिशेल मैकक्लीगन की गेंद को विकेट के पीछे ल्यूक रोंची के दस्तानों में खेल बैठे। मैकक्लीगन ने फिर इसी ओवर में रवींद्र जडेजा को भी चलता कर दिया। जडेजा अपना खाता भी नहीं खोल पाए।