Sports

लखनऊ: रांची जैसे अपेक्षाकृत कम खेल सुविधाओं वाली जगह से अर्श पर पहुंचे भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का ‘विजन’ पूरा करने के लिए शुरू किए गए ‘पेप्सी ट्रॉफी’ के लखनऊ चरण की कल शुरुआत होगी। धोनी चैरिटेबल फाउंडेशन और रिति स्पोट्र्स मैनेजमेंट द्वारा आयोजित किए जाने वाले इस टूर्नामेंट में आठ टीमें हिस्सा लेंगी।

रिति स्पोट्र्स मैनेजमेंट के महाप्रबन्धक (परिचालन) संजय पाण्डेय ने बताया कि रांची जैसी खेल सुविधाओं के अभाव वाली जगह पर खेल का ककहरा सीखकर भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान बने महेंद्र सिंह धोनी का ‘विजन’ है कि निचले स्तर पर प्रतिभाशाली बच्चों को एक मंच प्रदान करके उन्हें प्रोत्साहित किया जाए। उन्होंने बताया कि क्रिकेट की ऊंचाइयों पर पहुंचने के बाद धोनी अब समाज को कुछ देना चाहते हैं। इसी कोशिश के तहत ‘पेप्सी ट्रॉफी’ का आयोजन किया गया है और उसके दूसरे चरण में लखनऊ में टूर्नामेंट की कल शुरुआत की जाएगी।

पाण्डेय ने बताया कि नाक आउट आधार पर आगामी 10 जनवरी तक खेले जाने वाले इस टूर्नामेंट में आठ टीमें 40-40 ओवर के कुल सात मुकाबले खेलेंगी। इनमें से पांच मुकाबले लखनऊ स्थित जानकीपुरम के सहारा स्टेट ग्राउंड पर जबकि एक सेमीफाइनल तथा फाइनल मैच के. डी. सिंह बाबू स्टेडियम में खेला जाएगा। उन्होंने बताया कि एमएस धोनी चैरिटेबल फाउंडेशन और रिति स्पोट्र्स मैनेजमेंट देश की 30 शहरों में ऐसे टूर्नामेंट आयोजित कराएंगे। अब तक वाराणसी, जमशेदपुर, धनबाद और इलाहाबाद में यह आयोजन हो चुका है।