Sports

डरबन: जोहानिसबर्ग की मददगार पिच पर पहले क्रिकेट टेस्ट में जीत दर्ज नहीं करने के बाद भारतीय गेंदबाजों की काफी आलोचना की गई थी लेकिन गेंदबाजी कोच जो डावेस ने अपने खिलाडिय़ों का बचाव करते हुए कहा कि कभी कभार उनकी अनुचित आलोचना होती है। जोहानिसबर्ग में ड्रा हुए पहले टेस्ट में भारतीय गेंदबाज उनके मुफीद पिच पर मेजबान टीम को आउट नहीं कर सके जबकि उन्हें जीत के लिए458 रन का विशाल लक्ष्य मिला था।

डावेस ने दूसरे टेस्ट के शुरुआती दिन का खेल खत्म होने के बाद कहा, ‘‘हां, यह निराशाजनक था कि हम ऐसी पिच पर उन्हें नहीं समेट सके जिससे मदद मिल रही थी। हालांकि यह सिर्फ एक भागीदारी का मामला था क्योंकि इससे ही उन्होंने हमसे मैच बचा लिया। ऐसा होता है, यही क्रिकेट है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन कभी कभार भारतीय गेंदबाजों की अनुचित आलोचना होती है। अभी तक हमने इस साल एक टेस्ट मैच नहीं गंवाया है और हमने यहां दक्षिण अफ्रीका के अलावा प्रत्येक वन डे श्रृंखला जीती है। उन्होंने चैम्पियंस ट्राफी में अच्छी गेंदबाजी की और कभी कभार उप महाद्वीप में अच्छी गेंदबाजी नहीं की। ऐसे समय में आलोचना जायज है। हालांकि ज्यादातर यह सिर से उपर चली जाती है।’’