Other Games
नई दिल्ली: पांच बार के विश्व चैंपियन विश्वनाथन आनंद ने आज वर्तमान साल को अपने लिए सबसे खराब वर्ष करार दिया जिसमें उन्होंने नार्वे के मैगनस कार्लसन से विश्व चैंपियन का खिताब गंवाया लेकिन उन्होंने कहा कि वह सकारात्मक बने रहेंगे। आनंद ने कहा, ‘‘यह मेरे लिए काफी खराब साल रहा। यह मेरे करियर का सबसे मुश्किल वर्ष रहा। मेरे कहने का मतलब है कि विश्व चैंपियनशिप का बहुत बड़ा प्रभाव पड़ा। यदि मैं इसे जीत लेता तो यह मेरे लिए बहुत अच्छा साल होता।’’
 
पिछले महीने चेन्नई में कार्लसन से विश्व चैंपियनशिप का मुकाबला हारने वाले आनंद ने कहा, ‘‘मैं इस साल की समीक्षा कर रहा हूं कि मैंने कहां गलतियां की लेकिन मुझे लगता है कि मुझे सकारात्मक बने रहना होगा और अगले साल अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करनी होगी।’’ आनंद ने अभी अपने लिए कोई लक्ष्य तय नहीं किये है। उन्होंने कहा कि उनकी प्राथमिकता सकारात्मक बने रहना और अच्छी शतरंज खेलना है। उन्होंने कहा, ‘‘अधिक समीक्षा करने की जरूरत नहीं है। कई बार लक्ष्य तय करने के लिए यह सही नहीं होता है। अभी मुझे स्वच्छंद अहसास के साथ कुछ अच्छे टूर्नामेंट खेलने होंगे और एक बार जब मैं लय हासिल कर लूंगा तो परिणाम भी आने लगेंगे। इसलिए विभिन्न लक्ष्यों के बारे में विचार करने के बजाय मैं पूरी तरह से सकारात्मक बने रहना चाहता हूं।’’
 
अगले सत्र के बारे में आनंद ने कहा, ‘‘मैं साल की शुरूआत में 29 जनवरी से ज्यूरिख में खेलूंगा। मैं इसके बाद कंडिडेट्स टूर्नामेंट पर विचार करूंगा। फिलहाल यही मेरा कार्यक्रम है।’’ कडिडेट्स टूर्नामेंट विश्व चैंपियनशिप के लिये क्वालीफाई करने का टूर्नामेंट है।