Sports

जोहानिसबर्ग: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच यहां वांडरर्स पर खेला गया दो पहला क्रिकेट टेस्ट काफी उतार चढ़ाव के बीच ड्रॉ के साथ समाप्त हुआ जिसमें मेजबान टीम आठ रन जबकि टीम इंडिया तीन विकेट से जीत से दूर रह गई। भारत के 458 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने आज अंतिम दिन फाफ डु प्लेसिस (134) और एबी डिविलियर्स (130) के शतकों और दोनों के बीच पांचवें विकेट की 205 रन की साझेदारी से सात विकेट पर 450 रन बनाए।

दक्षिण अफ्रीका की टीम एक समय चार विकेट पर 402 रन बनाकर जीत से सिर्फ 54 रन दूर थी। यह लक्ष्य हासिल करने के लिए उसके पास 13 ओवर थे लेकिन अंतिम घंटे में भारतीय गेंदबाजों ने जोरदार वापसी करते हुए उसे जीत से वंचित कर दिया। दक्षिण अफ्रीका अगर जीत दर्ज करता तो यह क्रिकेट के इतिहास में लक्ष्य का पीछा करते हुए किसी भी टीम की सबसे बड़ी जीत होती। पूरे दिन उतार चढ़ाव देखने को मिला।

पहले सत्र के बाद भारत के पास जीत का अच्छा मौका था लेकिन दूसरे सत्र और अंतिम सत्र के मध्य तक दक्षिण अफ्रीका हावी रहा लेकिन डु प्लेसिस और डिविलियर्स के जल्द ही आउट होने से टीम जीत दर्ज नहीं कर सकी। दक्षिण अफ्रीका ने पहले सत्र में दो विकेट पर 98 रन जोड़े जबकि दूसरे सत्र में डु प्लेसिस और डिविलियर्स ने बिना विकेट गंवाए 95 रन जोड़कर टीम का पलड़ा भारी कर लिया।

मेजबान टीम को अंतिम सत्र में जीत के लिए 127 रन चाहिए लेकिन टीम 119 रन ही जुटा सकी। भारत की ओर से मोहम्मद शमी दूसरी पारी में सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 107 रन देकर तीन विकेट चटकाए। जहीर खान और इशांत शर्मा को एक एक विकेट मिला। श्रृंखला का दूसरा और अंतिम मैच 26 दिसंबर से डरबन में खेला जाएगा। 

इससे पहले इससे पहले भारत की ओर से चेतेश्वर पुजारा (153) और विराट कोहली (96) की साहसिक पारियों की मदद से दक्षिण अफ्रीका को 458 रन का विशाल लक्ष्य देने के बाद भारत ने पहले क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन मेजबान टीम का स्कोर दो विकेट पर 138 रन करके अपना पलड़ा कुछ भारी रखा।