Sports

सेंचुरियन: सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने कहा कि कल यहां होने वाले तीसरे और आखिरी एकदिवसीय मैच में प्रभाव छोडऩे के लिये भारतीय बल्लेबाजों को बड़ी साझेदारियां निभानी होंगी जिससे वह दक्षिण अफ्रीका के तेज आक्रमण के जोश और जज्बे से भी पार पा सकते हैं। भारत तीन मैचों की श्रृंखला पहले ही 0-2 से गंवा चुका है और तीसरा मैच जीतकर वह टेस्ट श्रृंखला से पहले मनोबल बढ़ाने की कोशिश करेगा।

 

रोहित ने मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘यदि हमें मैच जीतने हैं तो प्रत्येक खिलाड़ी को प्रदर्शन करना होगा। हम अभी साझेदारियां नहीं निभा पा रहे हैं। पूरे साल भर हमने अच्छी साझेदारियां की थी और यहां ऐसा नहीं हो रहा है। हमें एक शतकीय और दो अर्धशतकीय साझेदारियों की जरूरत है। यह हमारा मुख्य लक्ष्य है। अभी हमें एक मैच और खेलना है और मुझे विश्वास है कि बल्लेबाज अपनी जिम्मेदारी अच्छी तरह से निभाएंगे।’’

 

शुरू में सारी बातें भारतीय गेंदबाजों के परिस्थितियों से सामंजस्य बिठाने को लेकर हो रही थी लेकिन दो मैच बाद ही सभी का ध्यान बल्लेबाजों पर चला गया है। डरबन में दूसरे मैच में गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन करके दक्षिण अफ्रीका को 49 ओवर में 280 रन पर रोक दिया था लेकिन बल्लेबाज फिर से नहीं चल पाए थे।

 

रोहित ने कहा कि नियमित अंतराल में विकेट गंवाना टीम को महंगा पड़ रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘डरबन में हमारे तेज गेंदबाजों और स्पिनरों ने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की। हम 280 रन का लक्ष्य हासिल कर सकते थे। मैं समझता हूं कि उन्होंने वहां वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की।’’