Cricket

नई दिल्ली: रेलवे के लेफ्ट आर्म स्पिनर मुरली कार्तिक एक बार फिर ‘मांकेडिंग’ विवाद में उलझ गए हैं। कार्तिक ने यहां जामिया मिलिया मैदान में चल रहे रणजी ट्रॉफी मैच के तीसरे दिन रविवार को बंगाल के बल्लेबाज संदीपन दास को नान स्ट्राइकर छोर पर बाहर निकल जाने पर जैसे ही रन आउट किया तो यह विवाद उठ खडा हुआ। यह वाक्या बंगाल की पारी के 80 वें ओवर का है जब उसका पहली पारी में स्कोर तीन विकेट पर 120 रन था।

गेंदबाज कार्तिक पहले भी दास को क्रीज जल्दी छोडने के लिए चेतावनी दे चुके थे। कार्तिक ने दास को फिर गेंद फेंकने से पहले उस समय रन आउट कर दिया जब बंगाल के बल्लेबाज क्रीज से बाहर निकल आए थे। अम्पायर ने रिप्ले का सहारा लिया और दास को रन आउट करार दिया। दास का स्कोर उस समय 19 रन था। इस प्रकरण के बाद मैदान में हंगामें जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। बंगाल का खेमा इस प्रकरण से नाराज था और उन्होंने व्यंग्यात्मक अंदाज में तालियां बजाईं।

अशोक डिंडा ने तो कार्तिक के प्रति अपनी नाराजगी खुलकर व्यक्त कर दी। बंगाल के कोच अशोक मल्होत्रा ने कार्तिक से तीखी बहस की और उनकी खेल भावना पर सवाल उठाया। कार्तिक इससे पहले भी ‘मांकेडिंग’ विवाद में उलझ चुके हैं। उन्होंने गत वर्ष अगस्त में सरे की तरफ से खेलते हुए समरसेट के एलेक्स बेरो को इसी अंदाज में आउट किया था। तब नाराज दर्शकों ने कार्तिक की जमकर हूटिंग की थी।