Sports

जोहानसबर्ग: करिश्माई कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में टीम इंडिया ने सफलता की नई ऊंचाइयां हासिल की हैं लेकिन दक्षिण अफ्रीका को उसी की जमीन में मात देने उसका सपना अभी तक पूरा नहीं हुआ है। अपने इसी सपने को पूरा करने के लिए टीम इंडिया गुरुवार को यहां दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले वन डे में उतरेगी। लगातार छह वन डे सीरीज जीत चुकी टीम इंडिया के खिलाडी जबर्दस्त फार्म में हैं और तीन मैचों की वन डे सीरीज में भी अपने जीत के सिलसिले को बरकरार रखने के लिए कृतसंकल्प हैं।

दूसरी तरफ दक्षिण अफ्रीका को हाल में पाकिस्तान के खिलाफ घरेलू वन डे सीरीज में 1-2 से शिकस्त का सामना करना पडा था। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच इस सीरीज में तीन टेस्ट, सात वन डे और दो टवंटी-20 मैच खेले जाने थे। लेकिन दोनों देशों के बोर्डों के बीच विवादों के कारण घटा दी गई थी। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के सन्यास के बाद टीम इंडिया का यह पहला दौरा है।

टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका में अभी तक कभी सीरीज नहीं जीत पाई है। पिछले दौरे में टीम इंडिया को वन डे सीरीज में 2-3 से शिकस्त का सामना करना था। लेकिन इस बार टीम इंडिया में ऐसे कई युवा खिलाडी हैं जो दक्षिण अफ्रीका के अभेद्य किले को फतह करने का माद्दा रखते हैं। दुनिया की नंबर एक टीम और विश्व चैंपियन होने के नाते धोनी की कोशिश भी दक्षिण अफ्रीका को उसी के मैदान में शिकस्त देकर अपना लोहा मनवाने की होगी।