Sports

कानपुर: भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में आज 2-1 से जीत का श्रेय टीम प्रयास को दिया और कहा कि आस्ट्रेलिया के खिलाफ श्रृंखला की तुलना में उनके गेंदबाजी प्रदर्शन में काफी सुधार हुआ है। धोनी ने कहा कि शीर्ष क्रम के बल्लेबाज अच्छी फार्म में है लेकिन गेंदबाजों का सुधरा हुआ प्रदर्शन देखकर उन्हें अधिक खुशी हुई।

 

उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन की तुलना आस्ट्रेलिया के खिलाफ सात मैचों की वनडे श्रृंखला से करते हुए कहा, ‘‘यदि आप आस्ट्रेलियाई श्रृंखला से तुलना करते हो तो डेथ ओवरों में जिस तरह की गेंदबाजी हमने की वह काफी अच्छी थी। कुछ यार्कर पूरी तरह से सही नहीं पड़ी लेकिन वह बहुत ऊंचाई वाली नहीं थी।

 

वह नीची रहती फुलटास के रूप में आई जो बहुत बड़ा सुधार है।’’ धोनी ने तीसरे वनडे में भारत की पांच विकेट से जीत के बाद कहा, ‘‘बीच के ओवरों में दोनों स्पिनरों ने अच्छा प्रदर्शन किया और सुरेश रैना का प्रदर्शन सोने पर सुहागा जैसा रहा।’’ बल्लेबाजों के लगातार अच्छे प्रदर्शन के बारे में धोनी ने कहा, ‘‘रोहित और शिखर धवन ने बहुत अच्छी शुरूआत दी। विराट लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा है और निचले क्रम में हमने अच्छी तरह से अंत किया।’’

 

धोनी ने वेस्टइंडी को ग्रीन पार्क की पिच पर हासिल किए जा सकने वाले स्कोर पर रोकने के लिये अपने गेंदबाजों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘‘एक बार जब आप टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करते हो तो विरोधी टीम को कम स्कोर पर रोकना महत्वपूर्ण हो जाता है। हमने अच्छी गेंदबाजी की लेकिन भाग्य साथ नहीं था जो बल्ले के किनारा लेकर निकली कुछ गेंद हम नहीं पकड़ पाये। 280 थोड़ा बड़ा स्कोर होता। यह कानपुर के आम विकेट की तरह नहीं था।

 

मैच आगे बढऩे के साथ यह बल्लेबाजी के लिये अच्छा था। इसलिए मुझे लगता है कि 260 का स्कोर आसानी से हासिल किया जा सकता था।’’ मैन आफ द मैच शिखर धवन ने 119 रन की पारी खेली। उन्होंने कहा कि इस पिच पर उन्हें किसी तरह की दिक्कत नहीं हुई क्योंकि दिल्ली में वह इस तरह के विकेट पर खेलते रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में हम अक्सर इस तरह के विकेट पर खेलते हैं और मुझे ऐसे विकेट पर खेलने की आदत है।

 

मुझे पता था कि इसमें अधिक उछाल नहीं है। मैं अपनी फार्म से खुश हूं और टीम बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रही है।’’ धवन ने कहा, ‘‘यह साल बहुत शानदार रहा और मुझे उम्मीद है कि मैं आगे भी ऐसा ही खेलता रहूंगा। पिछले दो वनडे में भी मैं अच्छा खेल रहा था लेकिन आउट हो गया इसलिए मैं आज बड़ा स्कोर बनाना चाहता था।’’ मैन आफ द सीरीज विराट कोहली ने कहा कि श्रृंखला जीतना अच्छा है लेकिन टीम की असली परीक्षा दक्षिण अफ्रीका के आगामी दौरे में होगी।