Sports

चेन्नई: नए विश्व चैंपियन मैगनस कार्लसन ने कहा कि पांच बार के खिताब धारक विश्वनाथन आनंद विश्व शतरंज चैंपियनशिप के मुकाबले में दबाव में हार गए। कार्लसन ने दसवीं बाजी ड्रा करवाकर खिताब जीतने के बाद कहा कि वह दबाव था जिससे आनंद उभर नहीं पा रहे थे।

उन्होंने आनंद पर 6.5-3.5 से जीत दर्ज करने के बाद कहा, ‘‘उनकी कुछ गलतियों की जिम्मेदारियां मैं लेना पसंद करूंगा। यहां तक कि विश्व चैंपियनशिप में भी लोग दबाव में बिखर जाते हैं। इतिहास इसका गवाह है। उन्होंने जो बड़ी गलतियां की वह अमूमन ऐसी गलतियां नहीं करता। मैं वास्तव में यही चाहता था कि उन्हें लंबे समय तक खेलने के लिए मजबूर करूं।’’ वर्तमान समय में दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी कार्लसन ने कहा कि उन्हें खुशी है कि वह 1975 के बाद पश्चिमी देशों के पहले चैंपियन हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं। यहां और लंदन (जहां कार्लसन ने कंडिडेट्स में जीत दर्ज करके लिए यहां के लिए क्वालीफाई किया था) दोनों जगह मुकाबला कड़ा था। भारत में मेरा बहुत अच्छा स्वागत किया गया।’’