Cricket

नई दिल्ली: टीम इंडिया से बाहर चल रहे बाएं हाथ के ओपनर गौतम गंभीर के शब्दकोष में वापसी जैसा कोई शब्द नहीं है और उनका मानना है कि जब तक उनके अंदर खुद में आत्मविश्वास रहेगा वह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलना जारी रखेंगे। गंभीर ने यूरोप की सबसे बडी मोटरसाइकिल निर्माता कंपनी केटीएम के बुधवार को यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा ‘जब तक मेरे अंदर यह आत्मविश्वास रहेगा कि मैं अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेल सकता हूं तो मैं खेलता रहूंगा। लेकिन जिस दिन मेरा यह आत्मविश्वास खत्म होगा उसी दिन मैं अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास ले लूंगा।’

टीम इंडिया में अपनी वापसी की उम्मीदों पर गंभीर ने बडे स्पष्ट शब्दों में दार्शनिकता के साथ कहा ‘वापसी मेरे शब्दकोष में नहीं है। मैं हमेशा मैदान पर प्रदर्शन करने में यकीन रखता हूं। चाहे मैं दिल्ली से खेलूं या फिर ओएनजीसी या केकेआर से। मैं जिस टीम के साथ खेलूं मेरा काम अपनी टीम के लिए योगदान देना रहता है।’ टीम इंडिया से बाहर होने के बाद मौजूदा घरेलू सत्र में दिल्ली की रणजी टीम के कप्तान गंभीर ने कहा ‘मैं मैदान में कभी यह सोचकर नहीं उतरता कि मुझे वापसी करनी है। मेरा काम सिर्फ प्रदर्शन करना है। वापसी जब होनी होगी हो जाएगी।’