Sports

मुंबई: वानखेड़ें स्टेडियम में अपना 200वां और आखिर टेस्ट मैच खेलने के बाद क्रिकेट से सन्यास लेने वाले सचिन तेंदुलकर अब अपनी जीवनी लिखने की तैयारी कर रहे हैं। सचिन ने एक इंटरव्यू के दौरान अपने दिल की कई बातें कहीं।

सचिन ने कहा, 'मैं अपनी जीवनी लिखने की तैयारी कर रहा हूं। मैं चाहता हूं कि लोग मेरे जीवन के बारे में जानें। सचिन ने बताया कि रिटायरमेंट का वह वक्त उनके लिए कितना जज्बाती लम्हा रहा। साथ ही उन्होंने कहा कि क्रिकेट छोड़ने का उनका फैसला सही था, जिसका उन्हें अफसोस नहीं है।

सचिन ने रविवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि क्रिकेट उनके लिए ऑक्सीजन रहा है। सचिन ने कहा, ‘क्रिकेट मेरी जिंदगी रही है। मैंने इससे पहले भी कई बार कहा है कि यह मेरे लिए ऑक्सीजन का काम करता है और आज भी यही कह रहा हूं। मैंने अपनी जिंदगी के 40 साल में से 30 साल क्रिकेट खेला है और जबकि रिटायर हो चुका हूं, यकीन नहीं हो रहा है कि अब मैं देश के लिए नहीं खेल सकूंगा।’ भारत रत्न को अपनी मां के साथ-साथ सचिन ने देश की सभी मांओं को भी समर्पित किया।