Cricket

नई दिल्ली: पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने देश के युवाओं से कहा है कि अगर उन्हें शार्टकट लिए बगैर सफलता की राह पर चलना है तो वे सचिन तेंदुलकर के नक्शेकदम पर चलें जिन्होंने आज मुंबई में अपना 200वां और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच खेला। तेंदुलकर ने आज बेहतरीन स्पीच के साथ अपने बेजोड़ करियर का अलविदा कहा। इस स्पीच में उन्होंने अपने परिवार, कोचों, टीम के साथियों, मित्रों, मीडिया और प्रशंसकों को धन्यवाद दिया और अपने पिता की सलाह का जिक्र भी किया कि सफलता हासिल करने के लिए शार्ट कट मत लो।

गावस्कर ने कहा, ‘‘यह बेहतरीन स्पीच थी और जिस चीज ने मुझे सबसे अधिक प्रभावित किया वह उनके पिता की उनको दी गई सलाह थी कि शार्ट कट मत लो। युवाओं को उससे यह सीखना चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘एक देश के रूप में हम लगभग सभी चीजों में शार्ट कट लेते हैं सिर्फ खेल में ही नहींं। तेंदुलकर ने उन्हें (युवाओं को) दिखाया है कि बिना शार्ट कट लिए कैसे सफल हुआ जाता है। उन्होंने युवाओं को दिखाया कि कैसे सफलता हासिल करने के लिए छोटी से छोटी चीज पर ध्यान देने की जरूरत है।’’

तेंदुलकर को परफेक्ट करार देते हुए पूर्व भारतीय खिलाड़ी वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि यह महान बल्लेबाज सन्यास के बाद भी उन्हें दी जाने वाली प्रत्येक भूमिका में सफल रहेगा। उन्होंने कहा, ‘‘वह (क्रिकेट में) छोटी से छोटी चीजों का ध्यान रखने में माहिर है। वह कोई भी काम दे दीजिए। उसे किसी देश में राजदूत बना दीजिए या संयुक्त राष्ट्र में देश का प्रतिनिधि, वह सुनिश्चित करेगा कि वह अपने इन कामों में भी महारथ हासिल करे।’’