Sports

चेन्नई: गत विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद को सफेद मोहरों से खेलते हुए एक बार फिर जूझना पड़ा जिससे नार्वे के चैलेंजर मैग्नस कार्लसन ने विश्व शतरंज चैम्पियनशिप की छठी बाजी में भी उन्हें हरा दिया। पांचवीं बाजी में ड्रा की स्थिति में होने के बावजूद हार झेलने के बाद आनंद आज पलटवार के लिए तैयार दिख रहे थे लेकिन बर्लिन डिफेंस एक बार फिर उनके आड़े आ गया और कार्लसन ने बेहतर कौशल दिखाते हुए ड्रा होती बाजी को जीत में बदल दिया।

आनंद के सामने अब करो या मरो की स्थिति है और अगली बाजी मैच के निर्णय में अहम भूमिका निभा सकती है। बारह बाजियों का यह मुकाबला अब जब छह बाजियों के साथ अपना आधा सफर तय कर चुका है तब कार्लसन 4.2 से आगे चल रहे हैं और उन्हें अगला विश्व चैम्पियन बनने के लिए अगले छह में से सिर्फ 2.5 अंक की जरूरत है। पिछले दशक में दुनिया भर के खिलाडिय़ों को परेशान करते रहे बर्लिन डिफेंस का आनंद के पास कोई जवाब नहीं था। आनंद हालांकि आज जीत की कोशिशों में जुटे थे और शायद उनका यही प्रयास उनकी हार का कारण बना।