Cricket

मुंबई: चेतेश्वर पुजारा ने कहा है कि सचिन तेंदुलकर की स्ट्रोक्स से भरी 74 रन की विदाई पारी उनके और रोहित शर्मा के शतक से कहीं ज्यादा बेहतर थी, क्योंकि उन्होंने ये रन इतने दबाव में बनाए थे।

पुजारा (113) ने तेंदुलकर के साथ 148 रन की भागीदारी निभाई। उन्होंने कहा, 'मैं कहूंगा कि सचिन की पारी तीनों की पारियों में सर्वश्रेष्ठ थी। आपको हालात समझने होंगे, जिनमें वह मुंबई में अपना अंतिम मैच खेल रहे थे। उन पर उम्मीदों का काफी दबाव था और दर्शकों के इतने शोर में क्रीज पर ध्यान लगाने में मुश्किल हो रही थी। इस तरह के हालात में संयमित रहना आसान नहीं था।

उन्होंने कहा कि तेंदुलकर के साथ बल्लेबाजी करना 'बेहतरीन अहसास' था, जो उनकी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अंतिम पारी हो सकती है। पुजारा ने कहा, ऐसे हालात में ये रन बनाना शानदार था। जब मैंने पदार्पण टेस्ट में अर्धशतक बनाया था, तो वह (तेंदुलकर) दूसरे छोर पर थे, इसलिए आज (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उनका अंतिम जोड़ीदार बनना) शानदार अहसास था।