Sports

मुंबई: वानखेड़े स्टेडियम में अपने आखिरी टेस्ट में जीत के बाद सचिन तेंदुलकर भावुक हुए और उनके पुत्र अर्जुन तेंदुलकर भी आंसू रोक नहीं पाएं। भारत ने वेस्ट इंडीज को दूसरे टेस्ट में एक पारी और 126 रन से हराकर सीरीज पर 2-0 से कब्जा जमाया।

सचिन ने कहा, 'त्याग और समर्पण के लिए अपनी मां का दिल से शुक्रगुजार हूं।' सचिन ने कहा 'मुझे जिंदगी का पहला बल्ला मेरी बहन ने दिया था।' सचिन ने कहा, 'मैं सबसे ज्यादा अपने पिता को मिस करता हूं। जिनका वर्ष 1999 में निधन हो गया था।' सचिन ने कहा, '22 गज के दूरी में मेरी 24 साल की जिंदगी आज खत्म हुई, यकीन करना मुश्किल है।'

सचिन ने कहा, 'मुझे बचपन से एक क्रिकेटर बनाने के लिए मेरी मां के त्याग और मेहनत के लिए मैं शुक्रगुजार हूं।' सचिन ने कहा, 'अंजलि से मिलना मेरे जीवन का सबसे खूबसूरत दिन था। अंजलि ने मुझसे कहा आप क्रिकेट खेलने पर ध्यान लगाइए और मैं घर का ध्यान रखती हूं।'

सचिन ने कहा, 'मेरी बेटी सारा और बेटे अर्जुन की इस बात के लिए तारीफ करता हूं कि मैं जब उनके बर्थ डे और पैरंट्स डे पर मैचों के चलते नहीं होता था, तब भी वह शिकायत नहीं करते थे।' सचिन ने कहा, 'मैं आपके द्वारा इतने सालों तक लगाए जाने वाले सचिन-सचिन के नारों को अपनी आखिरी सांस तक नहीं भूलूंगा।'

भारतीय कप्तान धोनी ने कहा, 'हमने सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया, बल्लेबाजों और गेंदबाजों दोनों ने शानदार प्रदर्शन किया।' 'धोनी ने कहा, क्रिकेट इतिहास का सबसे यागदार मैच है। अब हम कभी ऐसा मैच नहीं देख पाएंगे। थैंक्यू सचिन इतनी शानदार क्रिकेट खेलने के लिए और भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के लिए बेहतरीन रोल मॉडल बनने के लिए।'

वेस्ट इंडीज तते कप्तान डैरेन सैमी ने कहा, 'सचिन के आखिरी टेस्ट में खेलना हमारे लिए गर्व की बात है। हम सचिन को शुभकामनाएं देते हैं।' मुंबई पुलिस कमिश्नर ने सचिन को सम्मानित किया।