Cricket

न्यूयार्क: अमेरिका में भले ही क्रिकेट बहुत बड़ा खेल नहीं हो लेकिन अमेरिका के प्रमुख समाचार पत्रों ने भारत के स्टार क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की उनके बेजोड़ कौशल तथा सत्यनिष्ठा और विनम्रता के लिए जमकर तारीफ की है। ‘वाल स्ट्रीट जर्नल’ ने ‘क्रिकेट के लिटिल मास्टर की विदाई’ शीर्षक से आलेख में लिखा है, ‘‘इस सप्ताह एक अरब से भी अधिक लोगों के लिए, जिस क्रिकेट की दुनिया को वे जानते हैं वह समाप्त हो जाएगी। भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा टेस्ट मैच सचिन तेंदुलकर का आखिरी टेस्ट मैच होगा।’’

एक अखबार ने तेंदुलकर के सन्यास को महात्मा गांधी की मौत से जोड़ा है। अखबार ने लिखा है, ‘‘जब उनकी (तेंदुलकर) विदाई का समय करीब आ रहा है तो देश पूरी तरह से भाव विह्वल है। विशाल उत्सव जैसा माहौल है लेकिन इसमें दुख भी छिपा है।’’

‘टाइम’ पत्रिका ने विशेष आनलाइन फीचर तैयार किया है जिसमें तेंदुलकर से जुड़े दस महत्वपूर्ण क्षणों को दिया गया है। इनमें उनके साथी क्रिकेटर विनोद कांबली के साथ 1988 में 664 रन की अटूट साझेदारी, 1996 में 23 साल की उम्र में कप्तान बनना, 2008 में ब्रायन लारा को पीछे छोड़कर सर्वाधिक टेस्ट रन बनाने वाला बल्लेबाज बनना तथा विश्व कप 2011 की जीत भी शामिल हैं।