Sports

नई दिल्ली: क्रिकेट इतिहास के महानतम बल्लेबाज आस्ट्रेलिया के सर डान ब्रैडमैन की तुलना में यदि कोई बल्लेबाज ठहरता है तो वह भारत के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर हैं लेकिन सचिन अपने करियर के आखिरी टैस्ट में ब्रैडमैन के रिकार्ड की बराबरी कभी नहीं करना चाहेंगे।

सचिन मुम्बई में 14 नवम्बर से वैस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टैस्ट में उतरने के साथ ही 200 मैच खेलने की अद्भुत उपलब्धि अपने नाम कर लेंगे। पूरी दुनिया को इंतजार है कि शतकों का महाशतक जडऩे वाले सचिन अपने आखिरी टैस्ट में 24 वर्षों के करियर का समापन शतक के साथ करें।

सदी के महानतम बल्लेबाज ब्रैडमैन अगस्त 1948 में जब ओवल में इंगलैंड के खिलाफ अपना आखिरी टैस्ट खेलने उतरे थे तो उन्हें 100 का औसत हासिल करने के लिए सिर्फ 4 रन की जरूरत थी लेकिन क्रिकेट के मैदान में दुनिया का 8वां अजूबा हुआ और ब्रैडमैन शून्य पर आऊट होकर पैवेलियन लौट गए। सचिन के करोड़ों प्रशंसकों को यह उम्मीद रहेगी कि सचिन कम से कम ब्रैडमैन के इस रिकार्ड की बराबरी न करें। सचिन अपने 199वें टैस्ट में कोलकाता में मात्र 10 रन बनाकर पगबाधा हो गए थे।