Sports

कोलकाता: वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन गुरुवार को कोलकाता के ईडन गार्डन्स में सचिन तेंदुलकर को विवादित फैसले में पगबाधा आउट करने वाले गेंदबाज शेन शिलिंगफोर्ड ने सचिन के खिलाफ अपने अपील करने के फैसले को सही ठहराया है और कहा है कि एक गेंदबाज के नाते यह उनके कार्य के अंतर्गत आता है।

मैच के बाद शिलिंगफोर्ड ने कहा, ‘‘प्रत्येक गेंदबाज को एक बार अपील करने का अधिकार है और अंपायर आखिर में अपना निर्णय देता है। अपील करना मेरा काम है और यह खेल का ही हिस्सा है।’’ अपनी विदाई श्रृंखला में विदाई मैच से ठीक पहले के मैच में खेल रहे तेंदुलकर को गुरुवार को अंपायर निजेल लॉन्ग ने विवादास्पद फैसला देते हुए पगबाधा करार दे दिया, जबकि रिप्ले में देखने पर पता चला कि तेंदुलकर के पिछले पैर से टकराई गेंद काफी ऊपर थी और स्टंप के ऊपर से जा रही थी। मैच के दूसरे दिन पहले सत्र में शिलिंगफोर्ड ने अपनी स्पिन और विविधता भरी गेंदबाजी से भारत की शुरुआती बल्लेबाजी को ध्वस्त कर दिया, हालांकि उन्होंने कहा कि भारतीय परिस्थितियों में खेलना काफी चुनौतीपूर्ण है।