Cricket

नागपुर: आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों द्वारा जबर्दस्त धुनाई से निराश कुछ भारतीय गेंदबाजों का मानना है कि वनडे श्रृंखला में उनकी जगह गेंदबाजी मशीनों को ही मैदान पर उतार दिया जाए। भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इसका खुलासा किया।

भारत और आस्ट्रेलिया मिलकर चार मैचों में 2565 रन बना चुके हैं जबकि इसमें रांची में रद्द हुए मैच के 295 रन शामिल नहीं है। धोनी ने कहा कि गेंदबाजों के लिए रनगति पर अंकुश लगाना चुनौती बन गया है।

उन्होंने कल रात कहा, ‘‘यह मुकाबला इस बात का था कि कौन सी टीम कम खराब गेंदबाजी करती है। भीतर एक अतिरिक्त फील्डर होने से यदि आप जरा भी चूके तो चौका पड़ जाता है। कुछ गेंदबाज इतने निराश हैं कि उन्हें लगता है कि गेंदबाजी मशीनों को ही मैदान पर उतार दिया जाए। यह गेंदबाजों के लिए नई चुनौती है।’’