Sports

लाहली: एक बड़े खिलाड़ी का बेटा होने के कारण उम्मीदों के बोझ से बखूबी वाकिफ भारत के पूर्व खिलाड़ी रोहन गावस्कर को सचिन तेंदुलकर के 14 वर्षीय बेटे अर्जुन तेंदुलकर पर क्रिकेट समुदाय द्वारा पैनी नजरें गड़ाना रास नहीं आ रहा। रोहन स्कूली स्तर पर जूनियर तेंदुलकर के प्रदर्शन पर बातचीत करने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने कहा कि इस बच्चे को अकेला छोड़कर अपने खेल का मजा लेने देना चाहिये। उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस पर बात नहीं करना चाहता।’’

महान सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर के बेटे रोहन ने कहा, ‘‘अर्जुन को अकेले छोड़ देना चाहिये। उसे अपने खेल का मजा लेने दीजिये। मैंने इस बारे में सचिन और अंजलि से बात की है। उनके साथ यह अच्छा नहीं होगा।’’ भारत के लिये 11 वन डे खेल चुके रोहन ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 117 मैचों में 6938 रन बनाये हैं। वह दो सत्र में बंगाल के कप्तान भी रहे। अब क्रिकेट कमेंटेटर बन चुके रोहन आस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा वन डे श्रृंखला के दौरान अपने पिता के साथ कमेंट्री करते दिखे। अपने पिता से तुलना झेल चुके रोहन नहीं चाहते कि अर्जुन भी उन्हीं हालात से गुजरे।