Sports

लोहली: हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने रविवार को कहा कि सचिन तेंदुलकर देश के लाखों-करोड़ों युवाओं के लिए प्रेरणा का महान स्रोत हैं। हुड्डा ने कहा कि वह खुश हैं कि सचिन अपना अंतिम रणजी मैच उनके गृहनगर में खेल रहे हैं। लाहली के बंसीलाल स्टेडियम में हरियाणा और मुम्बई के बीच जारी रणजी ट्रॉफी ग्रुप-ए मुकाबले के पहले दिन रविवार को हुड्डा ने मैच शुरू होने से पहले सचिन को स्मृतिचिन्ह भेंट किया।

इस अवसर पर हुड्डा ने कहा, ‘‘मैं खुश हूं कि सचिन अपना अंतिम रणजी मैच लाहली में खेल रहे हैं। यह सौभाग्य की बात है। देश भर के लोग रोहतक पहुंचे हैं और सचिन के कारण ही इस मैच को लेकर जबरदस्त रोमांच है। सचिन देश के करोड़ों युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं।’’ हरियाणा क्रिकेट संघ के एक अधिकारी ने कहा कि इससे पहले किसी मैच ने इतना अधिक लोगों का ध्यान अपनी ओर नहीं खींचा था। अधिकारी ने कहा कि सचिन के कारण ही ऐसा हो सका है। सचिन इस मैच में सिर्फ पांच रन बना सके। वह मोहित शर्मा की गेंद पर बोल्ड हुए। सचिन को बल्लेबाजी करते देखने के लिए टिकट की जुगाड़ में पसीना बहाने वाले युवाओं ने पहले तो संयम के साथ मुम्बई को गेंदबाजी करते देखा लेकिन जैसे ही सचिन आउट हुए, वे घर का रुख करने लगे।

एक युवा दर्शक ने कहा, ‘‘हम यहां सचिन को बल्लेबाजी करते देखने आए थे। अब जबकि वह सस्ते में आउट हो गए। हम निराश हैं। हम चाहते हैं कि वह दूसरी पारी में शतक लगाएं।’’