Sports

नई दिल्ली: भारतीय गेंदबाजों का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज के पहले तीन मैचों में प्रदर्शन बेहद लचर और औसत के लिहाज से खौफनाक रहा है। भारत मोहाली में शनिवार को तीसरे वन डे में जीतने की स्थिति में पहुंचने के बावजूद मैच हारकर सीरीज में 1-2 से पिछड चुका है। इस हार में गेंदबाजों खासकर तेज गेंदबाज इशांत शर्मा के पारी के 48वें ओवर की प्रमुख भूमिका रही जिसमें उन्होंने 30 रन लुटाकर जीत ऑस्ट्रेलिया की झोली में डाल दी।

भारतीय गेंदबाजों के तीन मैचों के प्रदर्शन पर नजर डाली जाये तो इशांत 94.50 के बेहद खराब औसत से सिर्फ दो विकेट ही ले पाए हैं। दिल्ली के इस लम्बे गेंदबाज ने तीन मैचों में 189 रन लुटाए हैं। भुवनेश्वर कुमार का औसत और भी खराब है। वह 145.00 के औसत से एक ही विकेट ले पाए हैं। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के ‘सर जडेजा’ के रुप में काफी प्रसिद्धि पा चुके आल राउंडर रवीन्द्र ने 69.00 के औसत से दो विकेट, आफ स्पिनर रविचन्द्रन अश्विन ने 54.33 के औसत से तीन विकेट, युवराज सिंह 44.50 के औसत से दो विकेट और आर, विजय कुमार ने 38.20 के औसत से पांच विकेट लिए हैं।