Cricket

पुणे: भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि सचिन तेंदुलकर का संन्यास अपेक्षित था। धोनी ने सार्वकालिक महान खिलाडिय़ों में से एक तेंदुलकर के पिछले 23 वर्षों से लगातार शीर्ष पर बने रहने के लिए उनकी सराहना भी की। धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के साथ शुरू हो रहे सात अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला से पहले शनिवार को कहा, ‘‘मुझे पता था कि उनका (सचिन) संन्यास निकट आ गया है। मैं उनके लिए खुश हूं, जिस तरह उन्होंने अपने सफल करियर को गढ़ा, अपने करियर के दौरान जब वह शीर्ष पर रहे, इन सबके लिए मुझे उनके प्रति खुशी है। पिछले 23 वर्षों से वह हमेशा शीर्ष पर रहे।’’

धोनी ने कहा कि तेंदुलकर ने पिछले 23 वर्षों से अपने कंधों पर देश की उम्मीदों का भार उठा रखा था। धोनी ने आगे कहा, ‘‘जब आप कुछ समय तक अपनी टीम के शीर्ष बल्लेबाज होते हैं, तो जब आप रन बनाते हैं या नहीं बनाते हैं, सभी आपके प्रदर्शन का आकलन करते हैं। उन्हें इतने भारतीयों की उम्मीदों पर खरा उतरना था। कई बार भारतीय प्रशंसक आपसे बहुत ज्यादा उम्मीद रखते हैं। इन सबको सहते हुए बेहतरीन प्रदर्शन करना ही उन्हें लाजवाब बनाता है।’’

तेंदुलकर के 200वें टेस्ट मैच के दौरान मुंबई में स्टेडियम के खचाखच भरे होने के सवाल पर धोनी ने कहा, ‘‘अगर ऐसा अभी नहीं होता है तो अगले 25 वर्षों में भी ‘हाउसफुल मैच’ नहीं होगा।’’