Sports

पुणे: क्रिकेट के एकदिवसीय प्रारूप में शीर्ष पर मौजूद भारतीय टीम पुणे से रविवार को भ्रमणकारी आस्ट्रेलिया के सामने उतरेगी तो उसका एकमात्र लक्ष्य विजयी शुरूआत कर अपनी श्रेष्ठता साबित करनी होगी।

भारतीय टीम खेल के इस प्रारूप में बेहतरीन टीम है और इस वर्ष भी उसका वनडे में प्रदर्शन काबिलेतारीफ रहा है। इस समय वनडे
रैंकिंग में भारत सर्वाधिक 123 अंकों के साथ नंबर एक पर है जबकि आस्ट्रेलिया उससे मात्र आठ अंक पीछे 115 अंकों के साथ दूसरे नंबर पर है।

आस्ट्रेलिया यदि रविवार से शुरू हो रही सात वनडे मैचों की सीरीज में 6-1 से जीत दर्ज करता है तो वह भारत को पछाड़ कर नंबर एक पर पहुंच जाएगा। हालांकि आस्ट्रेलियाई टीम के लिए यह राह इतनी आसान नहीं है क्योंकि गत फवरवरी में ही उसे भारतीय जमीन पर चार टेस्टों की सीरीज में 0-4 से भारत से शिकस्त मिल चुकी है।

इसके अलावा गुरूवार को भी राजकोट में उसे भारतीय टीम ने पहले और एकमात्र ट्वंटी 20 में छह विकेट से पराजित कर दिया था।
कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और कमबैक मैन युवराज सिंह के नेतृत्व में जहां टीम इंडिया इस समय जबरदस्त फार्म में है वहीं आस्ट्रेलियाई
कप्तान माइकल क्लार्क की अनुपस्थिति में जार्ज बेली के कंधों पर टीम की अतिरिक्त जिम्मेदारी है।

आस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले टवंटी 20 मैच में लंबे अर्से बाद टीम इंडिया में वापसी कर रहे आलराउंडर युवराज सिंह की मैन आफ द
मैच नाबाद 77 रनों की पारी ने पहले ही मेहमान टीम को यह संकेत दे दिया है कि युवी उनके लिये कड़ी चुनौती पेश करेंगे।

युवराज ने मात्र 35 गेंदों में आठ चौकों और पांच छक्कों की मदद से अपनी पारी खेली थी। युवराज से उनके इस शानदार प्रदर्शन को
वनडे में भी दोहराने की एक बार फिर से उम्मीद लगाई जा सकती है। इसके अलावा टीम के पास नयी रन मशीन शिखर धवन और रोहित शर्मा की मजबूत ओपनिंग जोड़ी भी है।

आलराउंडर रवींद्र जडेजा, सुरेश रैना, खुद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और युवा बल्लेबाज विराट कोहली टीम का मजबूत बल्लेबाजी क्रम है जिससे पार पाना आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के लिए सबसे कठिन होगा।

हालांकि टीम इंडिया का गेदबाजी क्रम इस समय पूरी फार्म में दिखाई नहीं दे रहा है। टीम के तेज गेंदबाज इशांत शर्मा और आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का पिछले टवंटी 20 मैच में प्रदर्शन कुछ निराशाजनक रहा था। अश्विन ने पिछले मैच में 41 रन और इशांत ने 52
रन लुटाकर कोई विकेट हासिल नहीं किया।

ऐसे में टीम की इन कमजोरियां का फायदा उठाकर आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज रनों का अंबार लगा सकते हैं। आस्ट्रेलिया के पास कप्तान बेली  के अलावा ओपनर आरोन फिंच, आलराउंडर शेन वाटसन, ग्लेन मैक्सवेल जैसे बढिय़ा बल्लेबाज हैं जिनका पिछले मैच में अच्छा प्रदर्शन रहा था।

लेकिन आस्ट्रेलिया के लिए भी उसका गेंदबाजी क्रम कुछ समस्या पैदा कर सकता है। हालांकि टीम के पास क्लांइट मैकके, जेम्स फाकनर, जेवियर डोहार्ती, नाथन काउल्टर नाइल जैसे उम्दा खिलाड़ी हैं जिनसे अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा सकती है।