Sports

नई दिल्ली: क्रिकेट एसोसिएशन आफ बिहार के सचिव आदित्य वर्मा ने कहा है कि वह उच्चतम न्यायालय से आईपीएल छह की फिक्सिंग और सट्टेबाजी की जांच के लिये प्रस्तावित जांच दल की गतिविधियों पर निगरानी रखने की भी मांग करेंगे।

आईपीएल छह की जांच की मांग करने वाले क्रिकेट एसोसिएशन आफ बिहार के सचिव की याचिका पर सुनवाई करते हुये सोमवार को उच्चतम न्यायालय ने तीन सदस्यीय जांच दल गठित करने का प्रस्ताव दिया था। इस मामले में उच्चतम न्यायालय ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और क्रिकेट एसोसिएशन आफ बिहार दोनों को इस मामले में अपने विचार रखने के लिये कहा है।

वर्मा ने अदालत के निर्णय पर खुशी जताते हुये कहा ‘मैं खुश हूं कि उच्चतम न्यायालय ने तीन नाम सुझाये हैं। हम इस बारे में अपने वकीलों से बात करेंगे। लेकिन हमें इस बात की खुशी होगी यदि इस जांच दल की गतिविधियों पर सर्वोच्च न्यायालय निगरानी रखे।’ उन्होंने कहा ‘बीसीसीआई इस बात को लेकर काफी असंतोष जता रहा है कि उनके अध्यक्ष एन श्रीनिवासन अपने पद पर रहकर काम नहीं कर पा रहे हैं लेकिन हम अध्यक्ष को बोर्ड गतिविधियों से दूर रखने के लिये हर संभव प्रयास करेंगे।’

क्रिकेट एसोसिएशन आफ बिहार के सचिव ने कहा ‘जब खुद बीसीसीआई के अध्यक्ष के दामाद ही सट्टेबाजी में लिप्त हों तो ऐसे में निष्पक्ष जांच के लिये स्वतंत्र समिति गठित किया जाना जरूरी है।’