Cricket

नई दिल्ली: इस साल आईपीएल के शुरु में रिकी पोंटिंग से कप्तानी संभालने के बाद मुंबई इंडियंस को छह महीने के अंदर दो बड़े खिताब दिलाने वाले रोहित शर्मा ने कहा कि भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की तरह आगे बढ़कर नेतृत्व करने यानि खुद अच्छा प्रदर्शन करने से उन्हें सफलता मिली।

आईपीएल छह के चैंपियन मुंबई इंडियंस ने कल रात यहां चैंपियन्स लीग के फाइनल में राजस्थान रॉयल्स को 33 रन से हराकर दूसरी बार इस टी20 टूर्नामेंट का खिताब जीता। इस तरह से वह सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट के छोटे प्रारूप से स्वर्णिम विदाई देने में सफल रहा। रोहित ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘कप्तान के लिये बेहद महत्वपूर्ण है कि वह आगे बढ़कर नेतृत्व करे। मेरे लिये इसका मतलब बल्लेबाजी के लिये क्रीज पर उतरने पर अपनी टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचाना है। मुझे खुशी है कि टीम के मेरे साथियों ने मुश्किल समय में मेरा पूरा साथ दिया। इसलिए टीम की अगुवाई करना कोई समस्या नहीं थी। यदि आप धोनी को देखो तो उन्होंने कई बार ऐसा किया है।’’

उन्होंने इसके साथ ही सहयोगी स्टाफ विशेषकर कोच जान राइट, अनिल कुंबले, रोबिन सिंह और जोंटी रोड्स का आभार व्यक्त किया जिन्होंने टीम की रणनीति तैयार करने में अहम भूमिका निभायी। रोहित ने कहा, ‘‘जब आपके पास बहुत अच्छा सहयोगी स्टाफ हो तो आपका काम आसान हो जाता है। जान राइट ने भारतीय टीम के साथ लंबे समय तक काम किया और भारतीय मानसिकता जानते हैं और समझते हैं कि यहां कैसे काम करना है। उनके साथ काम करना आसान रहता है। इसके अलावा अनिल कुंबले, रोबिन सिंह और जोंटी रोड्स ने पर्दे के पीछे रहकर रणनीति तैयार करने में अहम भूमिका निभायी। बेशक मैदान पर मुझे फैसले लेने पड़ते हैं लेकिन उन्होंने बहुत मदद की।’’