Tennis

नई दिल्ली: शीर्ष भारतीय महिला टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने प्रतिष्ठित डब्ल्यूटीए चाइना ओपन खिताब जीतकर 2013 सत्र खत्म किया और उनका मानना है कि वह पिछले साल की तुलना में अब बेहतर खिलाड़ी हैं। चाइना ओपन से महिला युगल खिलाडिय़ों को विजेता पुरुष टीम की तुलना में 500 से अधिक रैंकिंग अंक और 1,26,420 डॉलर की ईनामी राशि मिलती है।

सानिया का सत्र का यह पांचवां खिताब था और इस दौरान उन्हें कई कारणों से लगातार जोड़ीदार बदलने पड़े। वर्ष 2012 में सानिया ने दो खिताब जीते थे लेकिन वह तीन अन्य में उप विजेता रही थीं जिसमें चाइना ओपन भी शामिल है। सानिया ने अपना सत्र जिम्बाब्वे की कारा ब्लैक के साथ लगातार दो खिताब जीतकर समाप्त किया। वह जापान ओपन में कारा से जुड़ी थीं और पहले ही टूर्नामेंट में दोनों ट्राफी जीतने में सफल रही थीं।

सानिया ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि मैंने हर चीज में सुधार किया है। मेरी फिटनेस बेहतर बन गयी है। मैंने नेट में भी खुद में काफी सुधार किया है। मेरी सर्विस भी पहले से सुधर गयी है इसलिये अब मैं पिछले साल की तुलना में कहीं बेहतर खिलाड़ी हूं।’’