Sports

मुंबई: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर नवंबर में 200वें टेस्ट के बाद साफ-साफ संन्यास लेने के लिए कह देगा। बीसीसीआई ने यह फैसला कर लिया है। यह बात सचिन को बोर्ड के सीनियर मेंबर से कहलवाई जाएगी, किसी सिलेक्टर से नहीं। बीसीसीआई मान चुकी है कि सचिन का सुनहरा दौर अब गुजर चुका है और अब उन्हें संन्यास ले लेना चाहिए।

बीसीसीआई के विश्वस्त सूत्रों ने ‘मुंबई मिरर’ को इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि अभी तक सचिन को इस बारे में कोई इशारा न करने वाले बोर्ड के अधिकारी अब नए टैलंट को मौका देने के लिए सचिन को संन्यास लेने के लिए कह देंगे।

माना जा रहा कि सचिन को संन्यास के लिए कह देने का यह कठिन फैसला चेन्नै में हुई बीसीसीआई की सालाना बैठक में लिया गया। बोर्ड के सदस्यों का मानना था कि अप्रैल में 40 के हो चुके सचिन अब टीम के लिए उसने उपयोगी नहीं रह गए गए हैं।