Tennis

मुंबई: स्टार खिलाड़ी लिएंडर पेस ने कहा कि वह अब भी उस प्रकरण से नहीं उबर सके हैं जिससे भारतीय टेनिस को लंदन ओलंपिक से पहले गुजरना पड़ा था और इसलिए वह 2016 रियो ओलंपिक में खेलने के लिये प्रतिबद्ध हैं। पेस ने पत्रकारों से कहा, ‘‘पिछले ओलंपिक का अनुभव काफी कड़वा रहा। इसकी कड़वाहट अब भी है। रियो ओलंपिक के लिये यह अब भी मेरे लिये प्रेरणादायी कारक है। मैं सिर्फ अपने नियंत्रण की चीजें कर सकता हूं कि मैं इसके (रियो ओलंपिक) लिए तैयार रहूं।’’

पिछले साल लंदन ओलंपिक से पहले महेश भूपति ने पेस से जोड़ी बनाने से इनकार कर दिया था और चयन विवाद से काफी किरकिरी हुई थी। भूपति और रोहन बोपन्ना ने पेस के साथ जोड़ी बनाने से इनकार करते हुए एक साथ जोड़ी बनाने को कहा था। पेस ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि आईओसी के साथ मुद्दा जल्द से जल्द निपट जायेगा ताकि भारतीय एथलीट अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में अपने देश का प्रतिनिधित्व कर सकें।

उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय खेल इस समय बड़े मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं। इस समय हम सभी आईओसी के झंडे तले खेलेंगे। मैं उम्मीद लगाये हूं कि भारतीय ओलंपिक संघ से प्रतिबंध हट जाये। मैं उम्मीद कर रहा हूं कि हम अपने झंडे तले खेलें। ओलंपिक खेलों में अभी तीन साल का समय है लेकिन मेरे लिये यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि मैं इसके लिये तैयार रहूं। सुनिश्चित करूं कि शारीरिक रूप से फिट होकर ओलंपिक से पहले अपनी सर्वश्रेष्ठ फार्म में खेलूं।’’