Cricket

कराची: सीनियर हरफनमौला शाहिद अफरीदी ने एक बार फिर पाकिस्तान की कप्तानी करने की इच्छा जताई है। अफरीदी ने कहा कि देश के लिये 17 साल खेलने के बाद उन्हें हमेशा राष्ट्रीय टीम की कप्तानी में फख्र महसूस हुआ है। उसने कहा, ‘‘यदि क्रिकेट बोर्ड मुझसे फिर कप्तानी की पेशकश करता है तो मैं इस चुनौती को स्वीकार कर लूंगा।’’

उसने कहा, ‘‘इस समय सभी सीनियर खिलाडिय़ों को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ श्रृंखला के लिये अधिक योगदान देना होगा।’’ अफरीदी को पीसीबी के साथ मतभेदों के कारण 2011 में टी20 और वन डे टीम की कप्तानी से हटा दिया गया था। उसके बाद से उन्हें दोबारा कप्तानी का मौका नहीं मिला है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ संयुक्त अरब अमीरात में आगामी वन डे श्रृंखला के लिये उन्हें फिर कप्तानी सौंपी जा सकती है।

एक सूत्र ने कहा, ‘‘यह लगभग तय हो चुका है कि दक्षिण अफ्रीका श्रृंखला मे अधिक समय नहीं रह गया है तो टेस्ट टीम के लिये मिसबाह उल हक और डेव वाटमोर क्रमश: कप्तान और कोच बने रहेंगे लेकिन वन डे टीम की कप्तानी अफरीदी को सौंपी जायेगी।’’