Cricket

मुंबई: वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला को सचिन तेंदुलकर की विदाई श्रृंखला बताने की अटकलों के बीच मुख्य चयनकर्ता संदीप पाटिल ने आज कहा कि उन्होंने करीब एक साल से इस चैम्पियन बल्लेबाज से उसके भविष्य के बारे में बात नहीं की है। पाटिल ने कहा, ‘सचिन से मिलना हमेशा अच्छा लगता है लेकिन मैं पिछले 10 महीने से उससे नहीं मिला हूं। मैंने उसे फोन नहीं किया और न ही उसने मुझे। हमने किसी बारे में बात नहीं की। यह सब बकवास है।’ दूसरी तरफ पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने कहा कि सचिन अपने मर्जी से संन्यास लेंगे।

मीडिया रिपोर्ट में एक अज्ञात चयनकर्ता के हवाले से कहा गया था कि पाटिल ने हाल ही में तेंदुलकर से मिलकर उसके भविष्य के बारे में बात की है। रिपोर्ट में कहा गया कि क्रिकेट बोर्ड द्वारा वेस्टइंडीज के खिलाफ नवंबर में दो टेस्ट और तीन वन डे मैचों की श्रृंखला के आयोजन के फैसले के बाद पाटिल ने तेंदुलकर से मुलाकात की। रिपोर्ट में यह भी संकेत दिया गया कि पाटिल ने तेंदुलकर से कहा कि चयनकर्ता उनके 200वें टेस्ट के बाद उनके भविष्य के बारे में फैसला लेंगे।

इसमें कहा गया, ‘‘पाटिल ने सचिन तेंदुलकर से बात की और उन्हें हालात के बारे में बताया। उन्होंने यह भी कहा कि चयनकर्ताओं की अगले एक साल के लिये क्या योजना है और वे नये खिलाडिय़ों को मौका देना चाहते हैं।’’ अभी तक तेंदुलकर खेल के इतिहास में सर्वाधिक 198 टेस्ट खेल चुके हैं जिनमें उनके नाम 51 शतक हैं। इसके अलावा वन डे क्रिकेट में वह 49 शतक बना चुके हैं।

तेंदुलकर टेस्ट क्रिकेट में 16000 रन बना चुके हैं लेकिन पिछले 10 टेस्ट में वह सिर्फ दो अर्धशतक बना सके हैं। विदेशी सरजमीं पर टेस्ट क्रिकेट में पिछला शतक उन्होंने जनवरी 2011 में केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाया था। फिलहाल वह चैम्पियंस लीग की तैयारी में जुटे हैं जिसमें मुंबई इंडियंस को पहला मैच 21 सितंबर को राजस्थान रायल्स से खेलना है।