Sports

भुवनेश्वर: भारतीय टीम से बाहर चल रहे सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग का मानना है कि किसी खिलाड़ी की व्यक्तगत उपलब्धियों से अधिक महत्वपूर्ण टीम की सफलता होती है। राष्ट्रीय टीम में वापसी की कवायद में लगे सहवाग ने कहा कि उन्हें टीम की सफलता में योगदान देने में अधिक खुशी होती है।

सहवाग ने प्रगति स्पोर्टिंग क्लब में कल दो सिंथेटिक पिचों का उदघाटन करने के बाद कहा, ‘‘मेरे हिसाब से टीम की सफलता खिलाड़ी के व्यक्तिगत प्रदर्शन से हमेशा महत्वपूर्ण होती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे तब खुशी होती है जब मैं 40 या 50 रन बनाता हूं और टीम जीत दर्ज करती है। यदि मैं दोहरा शतक बनाऊं और टीम हार जाए तो खुशी नहीं होती।’’

प्रगति स्पोर्टिंग क्लब देश का सबसे पुराना क्रिकेट क्लब है और यहां से पूर्व सलामी बल्लेबाज शिव सुंदर दास जैसे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर निकले हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने आखिरी दो टेस्ट मैचों में केवल 27 रन बनाने वाले सहवाग को वेस्टइंडीज के खिलाफ नवंबर में दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला में वापसी की उम्मीद है।