Sports

कोलकाता: मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के संन्यास को लेकर बड़ी खबरें आ रही हैं कि सचिन 200वां टेस्ट खेलने के बाद संन्यास ले सकते हैं। सचिन ने संन्यास की खबरों को लेकर एसएमएस के जरिए बताया, ‘अभी कोई टिप्पणी नहीं, मैच दर मैच देखा जाएगा।’ सचिन ने नवंबर, 2011 में वानखेड़े स्टेडियम में वेस्ट इंडीज के खिलाफ 94 रनों की पारी खेली थी।

यह उनकी इस दौरान सबसे बड़ी टेस्ट पारी थी। क्रिकेट एसोसिएशन आफ बंगाल (कैब) ने इस महान खिलाड़ी के 200वें टेस्ट की मेजबानी करने की इच्छा व्यक्त की है। बीसीसीआई ने भी उनके घरेलू जमीन पर 200वें टेस्ट खेलने को लेकर प्रस्तावित वेस्टइंडीज सीरीज की योजना बना डाली है। ऐसे में कैब ने इच्छा व्यक्त की है कि वह दो टेस्टों की प्रस्तावित सीरीज का दूसरा और मास्टर ब्लास्टर का 200वां टेस्ट अपने मैदान पर आयोजित करना चाहता है।

कैब अधिकारियों के अनुसार यह सचिन का आखिरी टेस्ट हो सकता है। ऐसे में उनके लिए सचिन जैसे महान खिलाड़ी के करियर का आखिरी टेस्ट आयोजित करना यादगार होगा। इतना ही नहीं अधिकारियों ने बताया कि इस बाबत उन्होंने बीसीसीआई को पत्र लिखकर अनुरोध भी किया है।

उन्होंने कहा ‘सचिन का गृह राज्य मुंबई है लेकिन वह पूरे देश के खिलाड़ी हैं। हमने बीसीसीआई के शीर्ष अधिकारियों से अनुरोध किया है कि वह सचिन का 200वां टेस्ट ईडन गार्डन में आयोजित करने की अनुमति दें क्योंकि यह न सिर्फ ऐतिहासिक ग्राउंड है बल्कि इसकी क्षमता किसी अन्य ग्राउंड से कहीं ज्यादा भी है।’