Sports

नई दिल्ली: ओलंपिक कांस्य पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त को उनके डाक्टरों ने घुटने की सर्जरी नहीं करवाने की सलाह दी है क्योंकि इससे उनके कुश्ती करियर को गंभीर खतरा पैदा हो सकता है। योगेश्वर के घुटने का पहले ही दो बार ऑपरेशन हो चुका है। योगेश्वर को जुलाई में दायें घुटने में चोट लगी थी और वह दक्षिण अफ्रीका में आपरेशन कराने पर विचार कर रहे थे।

योगेश्वर ने कहा, ‘‘मैंने मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल के डा. दिनशा पारदीवाला से सलाह ली। उन्होंने मुझे सर्जरी नहीं कराने की सलाह दी क्योंकि ऐसा करने पर मुझे कम से कम छह से सात महीने तक कुश्ती से दूर रहना होगा। इसके अलावा उनका कहना था कि एक ही जगह तीसरा आपरेशन कराना जोखिम भरा होगा।’’ इस स्टार पहलवान के घुटने की पहली सर्जरी 2009 में हुई थी। इस पहलवान ने कहा, ‘‘डाक्टर ने मुझे स्टै्रंथ वाली ट्रेनिंग पर ध्यान लगाने को कहा है। फिलहाल मैं जिम में मेहनत कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि समय के साथ चोट ठीक हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इस समय आपरेशन अच्छा विकल्प नहीं होगा क्योंकि इससे मेरे करियर को गंभीर खतरा हो सकता है। डाक्टर ने कहा कि मेरा घुटना बेहतर हो रहा है।’’

योगेश्वर हंगरी के बुडापेस्ट में आगामी विश्व चैम्पियनशिप में प्रतिस्पर्धा के लिए फिट नहीं हैं लेकिन उन्होंने भारतीय कुश्ती महासंघ से आग्रह किया है कि उन्हें ट्रेनिंग शिविर में टीम के साथ अभ्यास करने दिया जाए।