Latest News

मुंबई ,महाराष्ट्र , ( निकलेश जैन ) भारतीय ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट सीरीज का अंतिम मुक़ाबला ईरान के परहम मघसूदलू के पक्ष में गया और 8 अंको के साथ उन्होने आईआईएफ़एल मुंबई इंटरनेशनल के तीसरे संस्करण का खिताब अपने नाम कर लिया । अंतिम राउंड में आधा अंक की बढ़त के साथ खेल शुरू करते हुए उन्होने इटली के अनुभवी ग्रांड मास्टर डेविड अल्बर्टों को आसानी से ड्रॉ पर रोकते हुए यह खिताब अपने नाम कर लिया । डेविड अल्बर्टो 7.5 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहे । भारत की उम्मीद और छह राउंड तक शीर्ष पर रहे दीपन चक्रवर्ती को अंतिम राउंड में अमेरिकन ग्रांड मास्टर तिमूर गेरेव नें पराजित करते हुए तीसरा स्थान हासिल कर लिया और इसका परिणाम यह हुआ की दीपन 7 अंको के साथ चौंथे स्थान पर रहे । इसके बाद टर्की के सुआत अटालिक ,उक्रेन के एडम तुखेव ,मलेशिया के ली तियान ,भारत के अभिजीत गुप्ता ,तजाकिस्तान के के मुहम्मद ,और भोपाल ओपन विजेता वियतनाम के डुक हुआ 7 अंक बनाकर क्रमशः 5 वे से 10 वे स्थान पर रहे । 

 

" यह जीत मेरे लिए भी एक अप्रत्याशित थी " विश्वनाथन आनंद - पुरुष्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि बनकर आए विश्व रैपिड शतरंज चैम्पियन विश्वनाथन आनंद नें पंजाब केसरी से बात चीत करते हुए बताया की 48 वर्ष की उम्र में यह जीत उन्हे भी चौंका गयी , उन्होने कहा की लंदन क्लासिक में अंतिम राउंड में रहने के बाद जब में रियाध गया तो मेरे पास कोई खास उम्मीद नहीं थी पर मेरे मैच अच्छे रहे और कार्लसन को हराने के बाद और मुझे मेरे अच्छे खेल का अहसास किया और क्यूंकी यह जीत इस उम्र में आई है जब लोग मेरे सन्यास की बात कर रहे थे तो यह बेहद खास है । एक और सवाल के जबाब में उन्होने कहा की शायद खराब प्रदर्शन के बाद मैं अपने आप ही अच्छा करने के लिए प्रेरित हो जाता हूँ । 

 

 

मुंबई इंटरनेशनल के अंडर 13 के जूनियर वर्ग का खिताब भारत के डी  गुकेश नें जीता , पहले चार स्थान भारत के ही हिस्से आए दूसरा स्थान वी प्रणव ,तीसरा आर्यन वर्षने और चौंथा स्थान अनुज श्रीवत्रि नें हासिल किया पांचवे स्थान पर बांगलादेश के जिया तहसीन रहे ।