Sports

मोहाली: वायरल बुखार से पूरी तरह नहीं उबर पाने के कारण सुरेश रैना न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे एकदिवसीय क्रिकेट मैच में चयन के लिए अब भी उपलब्ध नहीं हैं। 

धोनी के लिए तुरुप का इक्का हैं रैना
रैना टीम में हरफनमौला खिलाड़ी का रोल निभाते हैं और वह महेंद्र सिंह धोनी के लिए वह एक तुरुप का इक्का हैं। वायरल बुखार के कारण पहले और दूसरे वनडे में नहीं खेलेने वाले सुरेश रैना अगर फिट हुए तो तीसरे वनडे में खेल सकते हैं। रैना टीम के लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकते हैं। इसमें कोई दो राय नहीं है कि रैना एक शानदार खिलाड़ी हैं, उन्होंने भारत के लिए कई उपयोगी पारियां खेली हैं। रैना ने पिछले 10 सालों में भारत को कई मैच जिताए हैं। जब रैना अपने करियर के चरम पर थे टो वह टीम के स्थायी सदस्य थे और टीम से रैना को बाहर करना लगभग असंभव सा होता था। रैना धर्मशाला में खेले गये पहले मैच से बाहर रहे लेकिन दिल्ली में खेले गये मैच से पहले उन्होंने नेट में अभ्यास किया लेकिन मैच के लिए उपलब्ध नहीं हो सके।

जानिए टीम के लिए क्यों फायदेमंद हैं रैना?
रैना नंबर 4, 5 और 6 पर खेलते हुए भारत के लिए काफी उपयोगी साबित हुए हैं। रैना ने अब तक 35 की औसत से 5568 रन बनाए हैं और इस दौरान रैना का स्ट्राइक रेट 93 से भी ज्यादा का रहा है।  भारत के निचले क्रम में रैना भारत के सबसे आक्रामक बल्लेबाजों में से एक हैं। रैना उस समय बल्लेबाजी के लिए आते हैं जब भारत को तेज गति से रनों की जरूरत होती है। रैना टीम में सिर्फ एक आक्रामक बल्लेबाज की भूमिका ही नहीं निभाते हैं बल्कि वह टीम के लिए संकट की घड़ी में गेंदबाजी कर विकेट लेने भी कामयाब होते हैं। रैना ने कई बार बड़ी साझेदारियों को तोड़ा है। इसलिए अगर तीसरे वनडे में रैना की वापसी होती है तो यह भारतीय टीम के लिए एक अच्छी खबर होगी। 

बढ़त बनाने उतरेगी धोनी की सेना
भारतीय टीम पिछले मैच में मिली शिकस्त के बाद रविवार यहां होने वाले न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे एक दिवसीय मुकाबले में तेजी से सुधार कर पटरी पर आना चाहेगी। दिल्ली में मिली छह रन की हार ने भारत को सोच विचार के लिए काफी कुछ दिया है क्योंकि इससे इस मुकाबले में दिलचस्पी काफी बढ़ गई है। भारतीय टीम ने एक तरफा टैस्ट सीरीज जीत दर्ज करने के बाद धर्मशाला में हुए पहले वनडे में भी फतह हासिल की थी, जिससे दोनों टीमें 1.1 की बराबरी पर हैं।