Sports

कोलकाता: बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने आज कहा कि अगर बोर्ड न्यायमूर्ति आरएम लोढा समिति की सिफारिशों को पूरी तरह से लागू करता है तो भारत को अगले साल इंग्लैंड में होने वाली चैम्पियंस ट्राफी से हटना पड़ेगा। लोढा पैनल द्वारा सुझाए गए सुधारों के अनुसार आईपीएल से पहले या बाद में 15 दिन की विंडो होनी चाहिए। चैम्पियंस ट्राफी एक से 18 जून तक होनी है और आईपीएल के मई के अंतिम हफ्ते में समाप्त होने की उम्मीद है। 

ठाकुर ने कहा, ‘‘मैं नहीं जानता कि भारत चैम्पियंस ट्राफी में खेलने योग्य होगा या नहीं। अगर आप लोढा समिति की रिपोर्ट के अनुसार चलोगे तो आपको या तो आईपीएल खेलना होगा या फिर चैम्पियंस ट्राफी में। इसलिये बीसीसीआई को इस पर फैसला लेना होगा। ’’ 

बढ़ते राजनीति तनाव को देखते हुए जब भारत को पाकिस्तान के अलावा किसी अन्य ग्रुप में शामिल किये जाने के संबंध में सवाल पूछा गया तो ठाकुर ने कहा, ‘‘आईपीएल और चैम्पियंस ट्राफी से पहले आस्ट्रेलियाई सीरीज है। इसलिए बीसीसीआई को फैसला करना होगा कि वे आईपीएल में खेलें या चैम्पियंस ट्राफी में - अगर आपको लोढा समिति की सिफारिशों को पूर्णतया लागू करना है तो आपको इनमें से एक का चयन करना होगा। ’’  उन्होंने कहा, ‘‘भारत और पाकिस्तान का सवाल तो तब उठेगा जब भारत चैम्पियंस ट्राफी में खेलेगा। ’’